मंत्री,वकील तथा अधिकारी से मिलने का मुहूर्त।

शुभ नक्षत्र :- अश्वनी ,रोहिणी, मृगशिरा, पुष्य,उत्तराफाल्गुनी, हस्त, चित्रा, अनुराधा, उत्तरा षाढ़ा, श्रवण, धनिष्ठा, उत्तरा भाद्रपद, रेवती। शुभ वार :- रविवार, सोमवार ,बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार ।

शुभ तिथि :- रिक्ता तिथि(4,9,14) अमावस्या को छोड़कर सभी तिथियां शुभ है।

राज दर्शन से अभिप्राय सरकारी तंत्र के किसी अधिकारी से मुलाकात करना तथा किसी नए एवं पुराने प्रयोजन के लिए स्वीकृति तथा किसी विवाद पर बड़े अधिकारी या वकील से मुलाकात करना।

जो मिलने जा रहा है उस व्यक्ति का चंद्रमा सूर्य शुभ स्थिति में होना चाहिए सूर्य गोचर में शुभ स्थिति मे हो। जिस दिशा में अधिकारी रहता हो घर से दूर हो दुसरे शहर में हो और एक रात्रि कि दुरी हो तो दिशाशूल विचार करना चाहिए ।

मिलते समय या मिलने के समय लग्नेश की स्थिति शुभ होनी चाहिए। तत्वों के अनुसार कोन सी दिशा में बैठकर बात करनी चाहिए तथा बातचीत करते समय स्वर विज्ञान को समझ कर अपने निर्णयों को प्रभावशाली बना सकते हैं।