व्युटि पार्लर,सैलून ,मसाज पार्लर खोलने का मुहूर्त।

चंद्रमा विचार :- स्वयं कि राशि से चंद्रमा चौथा छठा आठवां बारहवां नहीं होना चाहिए।

शुभ नक्षत्र:- अश्विनी, मृगशिरा, पुनर्वसु, पुष्य,उत्तराफाल्गुनी, हस्त,स्वाति, अनुराधा,ज्येष्ठा, मुल,उत्तराषाढ़ा, श्रवण,उत्तराभाद्रपद।

वार विचार :- सोमवार बुधवार बृहस्पतिवार शुक्रवार रविवार।

तिथि विचार :- चतुर्थी नवमी चतुर्दशी तिथि निषेध हैं, श्राद्ध पक्ष, होलाष्ठ निषेध है।

चंद्रमा प्रभावित तिथियां।

चंद्रमा शुद्धि, लग्नशुद्धि परम आवश्यक है।

चौथे भाव मे पाप ग्रह नही होने चाहिए।