घर में रंगाई तथा टूट-फूट सुधार तथा सजावट मुहूर्त ।

चंद्रमा विचार:- स्चंय के नाम कि राशि से चंद्रमा चौथा, छठा, आठवां, बारहवां नहीं होना चाहिए।

शुभ नक्षत्र :- अश्वनी ,रोहिणी, पुनर्वसु,पुष्य,उत्तराफाल्गुनी, हस्त ,स्वाति ,अनुराधा ,उत्तराषाढ़ा ,श्रवण, घनिष्ठा ,शतभिषा ,उत्तर भाद्रपद।चंद्रमा मिथुन, कन्या, धनु,मीन मे हो शुभ फलदायी होता है।

गूरू,बुध दसवें भाव मे शुभ फलदायी होता है। द्विस्वभाव तथा स्थिर लग्न प्रभावशाली होते है।

पुराने तथा नये घर पर रंगाई तथा अन्य सजावट करने के मुहूर्त भी इन मुहूर्तो में कर सकते है।

शुभ वार :- रविवार, सोमवार, बुधवार, बृहस्पतिवार, शुक्रवार।शुभ तिथि :- १,२,३,५,६,७,८,१०,११,१२,१३ पुर्णिमा।

वर्जित तिथि :- ४,९,१४ , अमावस्या, श्राद्ध पक्ष, होलाष्ट, ग्रहणकाल , सूतको में कार्य कि शुरुआत वर्जित मानी गई है।