खलिहान बनाने मुहूर्त।

खलिहान मुहूर्त तथा फसल इकट्ठा करने का मुहूर्त ।

शुभ नक्षत्र:- उत्तराफाल्गुनी,पुर्वाफाल्गुनी,उत्तराषाढा,पुर्वाषाढ़, उत्तराभाद्रपदा, पुर्वाभाद्रपदा,मघा,आश्लेषा, ज्येष्ठा, आर्द्रा,श्रवण , घनिष्ठा, भरणी, कृतिका,मूल ,मृगशिरा,पुष्य,हस्त चित्रा ,स्वाति ।

शुभ वार :- रविवार ,सोमवार, बुधवार ,बृहस्पतिवार ,शुक्रवार।

शुभ तिथि:- ४,९,१४ तथा अमावस्या को छोड़कर सभी तिथियां शुभ मानी गई हैं।

खलिहान बनाने पर विचार करें ।   

खेत कि जगह  मे  ग्राम के निकट होना चाहिए।
शमशान से दूर होना चाहिए।
दूषित स्थान पर नहीं होना चाहिए।
मार्ग पर नहीं होना चाहिए।
बांझ भूमि पर खलियान नहीं बनाना चाहिए।
नीचे तल वाली भूमि पर खलियान नहीं बनाना चाहिए।
यह साफ तथा अच्छी भूमि का चयन करें इसे बनाने के लिए।